अरपा पैरी के धार छत्तीसगढ़ राज्य गीत और उसके मायने क्या है

  


डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा द्वारा लिखित अरपा पैरी के धार, महानदी हे अपार... गीत को तत्कालीन (मुख्यमंत्री) सीएम भूपेश बघेल ने राज्यगीत घोषित किया है. सीएम ने इसका ऐलान आज राज्योत्सव मंच से किया था । अब ये गीत प्रत्येक शासकीय कार्यक्रमों में गाया जाता है । और राज्य विधानसभा के हर सत्र के अंत में वंदे मातरम के बाद अरपा पैरी के धार, महानदी हे अपार राज्य गीत का गायन किया जाता है ।इस गीत मे छत्तीसगढ़ की पूरी छवी झलकती है ।

 

अरपा पैरी के धार छत्तीसगढ़ राज्य गीत हिन्दी Lyrics

 

अरपा पैरी के धार, महानदी हे अपार
इँदिरावती हा पखारय तोर पईयां
महूं पांवे परंव तोर भुँइया
जय हो जय हो छत्तीसगढ़ मईया

सोहय बिंदिया सहीं, घाट डोंगरी पहार
चंदा सुरूज बनय तोर नैना

सोनहा धाने के अंग, लुगरा हरियर हे रंग
तोर बोली हावय सुग्घर मैना
अंचरा तोर डोलावय पुरवईया
महूं पांवे परंव तोर भुँइया

जय हो जय हो छत्तीसगढ़ मईया

रयगढ़ हावय सुग्घर, तोरे मउरे मुकुट
सरगुजा अउ बिलासपुर हे बइहां


रयपुर कनिहा सही घाते सुग्घर फबय
दुरूग बस्तर सोहय पैजनियाँ
नांदगांव नवा करधनिया
महूं पांवे परंव तोर भुँइया
जय हो जय हो छत्तीसगढ़ मईया

 

अरपा पैरी के धार, महानदी हे अपार
इँदिरावती हा पखारय तोर पईयां
महूं पांवे परंव तोर भुँइया
जय हो जय हो छत्तीसगढ़ मईया


Arpa Pairi Ke Dhar Lyrics in English

Arpa Pairi Ke Dhar Mahanadi He Apar
Indrawati Ha Pakharay Tor Paiyaa
Mahu Paav Parav Tor Bhuiyaa

Jay Ho Jay Ho Chhattisgarh Maiyaa

Sohe Bindiya Sahi Ghaat Dongri Pahar
Chanda Suruj Bane He Tor Naina…..
Sonha Dhan Ke Ang
Lugra Hariyar He Rang
Tor Boli Havay Sughghar Maina
Achra Tor Dolaway Purvaiyaa

Jay Ho Jay Ho Chhattisgarh Maiya


Raigarh Haway Sughghar Tor Maur Mukut
Sarguja Au Bilaspur He Baiyaa…

Raipur Kaniha Sahi
Ghaat Sughghar Fabhay
Durug Bastar Sohey Paijaniya
Nandgaov Nawa Nkardhaniya….
Mahu Paav Parav Tor Bhuiyaa


Jay Ho Jay Ho Chhattisgarh Maiya

गाना देखें – ममता चंद्राकार द्वाराआरपा पैरी के धार

अरपा पैरी के धार गाना Download करे 

 

जीवन परिचय – डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा

Biography of Dr. Narendra Dev Varma: साहित्यकार एवं भाषाविद् डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा का छत्तीसगढ़ी भाषा की पहचान बनाने में अमूल्य योगदान रहा है। और उनका जन्म सेवाग्राम छत्तीसगढ़ के वर्धा में 4 नवम्बर 1939 को हुआ था और 8 सितम्बर 1979 को उनका रायपुर में निधन हुआ।

 

Arpa Pairi ke Dhar Writer
Image Source - Youtube 

डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा, मुख्यतः छत्तीसगढ़ी भाषा (Chhattisgarhi Language)  की पहचान बनाने वाले गंभीर व्यक्तित्व थे। उनके बडे़ भाई ब्रम्हलीन स्वामी आत्मानंद जी का प्रभाव उनके जीवन पर अत्यधिक पड़ा था। उन्होंने छत्तीसगढ़ी भाषा व साहित्य (Chhattisgarhi Language and Literature) का उद्धव विकास में रविशंकर विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की।


General Knowledge - डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा की सुपुत्री का नाम श्रीमती मुक्तेश्वरी बघेल है। जिनका विवाह छत्तीसगढ़ के वर्तमान मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के साथ हुआ है। जिन्हें इनके बड़े भाई श्री तुलेन्द्र वर्मा जी के द्वारा स्वामी विवेकानंद आश्रम के कार्यो दौरान प्रसंद किया गया था।

 

Image Source - Youtube

डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा की प्रमुख रचनाएं :       

        (1) छत्तीसगढ़ महिमा कविता

        (2) छत्तीसगढ़ी का उद्वविकास छत्तीसगढ़ी भाषा व व्याकरण ग्रंथ

        (3) सुबह की तलाश उपन्यास

       (4) अपूर्वा कहानी संग्रह


 डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा द्वारा गजल:


(1)   यह कैसा अंधेरा यह कैसा जमाना है?

(2)   जिगर में घाव है सौ सौ बताएं तो बजाएं क्यों?

(3)   चलके आते भी नहीं दिल से जाते भी नहीं? 

डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा की हिन्दी अनुवाद रचनाएं  

   (1)   मोंगरा

   (2)   श्री मां की वाणी

   (3)   बुद्ध की वाणी

   (4)   श्री कृष्ण की वाणी

   (5)   श्री राम की वाणी

           (6)    ईसा मसीह की वाणी

           (7)   मोहम्मद पैगंबर की वाणी


डाॅ. नरेन्द्र देव वर्मा छत्तीसगढ़ के पहले ऐसे बड़े लेखक है, जिन्होने हिन्दी और छत्तीसगढ़ी में समान रूप से अपना अमूल्य योगदान प्रदान किया है ।


आरपा पैरी के धार छत्तीसगढ़ राज्य गीत मे दर्शित जिले, नदियों, और स्थानो के नाम

 

·   रायगढ़ जिला को मुकुट

·   सरगुजा, बिलासपुर जिला को बइहां (बांह/भुजा)

·   रायपुर जिला को कनिहा (कमर)

·   दुर्ग, बस्तर जिला को पैजनियां (पायल)

·   राजनांदगांव को करधन (कमरबंध)

·   डोंगरी पहाड़ को बिंदिया

Questions on (Arpa Pairi Ke Dhar)आरपा पैरी के धार पर पुछे जाने वाले सवाल या प्रश्न

 

·    छत्तीसगढ़ राज्य गीत के रचियता का नाम क्या है ?

·    डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा का जन्म कब हुआ था ?

·   छत्तीसगढ़ का राज्य गीत किसे बनाया गया ?

·   डा॰ नरेन्द्र देव वर्मा द्वारा लिखित प्रसिद्ध गीत (रचना) कौन सा है ?

·   .. राज्य गीत में उल्लेखित नदियां कौन कौन सी है ?

·   छत्तीसगढ़ राज्य गीत मे कितने जिलों के नाम का उल्लेखन किया गया है ?

·   छत्तीसगढ़ राज्य गीत में मुकुट किस जिले को कहा गया है ?

·  महानदी मईयां के कनिहा (कमर ) एवं करधन (कमरबंध ) किस जिले को कहा गया है ?

 

छत्तीसगढ़ मे गाये जाने वाले लोकगीत

·   भोजली

·   पंडवानी

·   जस गीत

·   भरथरी लोकगाथा

·   बाँस गीत

·   गऊरा गऊरी गीत

·   सुआ गीत 

·   छत्तीसगढ़ी प्रेम गीत

·   छत्तीसगढ़ में जन्म के गीत

·   छतीसगढ़ी गीत डा. मृनालिका ओझा के कण्ठ स्वर में

·   छतीसगढ़ी गीत श्रीमती अर्चना पाठक के कण्ठ स्वर में

·   छतीसगढ़ी गीत डा. इलिना सेन के कण्ठ स्वर में

·   देवार गीत

·   करमा

·   फागुन गीत

·   राऊत नाचा गीत 

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.